Breaking News
Home / breaking / भारी बारिश से पश्चिमी राजस्थान में बाढ़, सेना और एनडीआरएफ अलर्ट

भारी बारिश से पश्चिमी राजस्थान में बाढ़, सेना और एनडीआरएफ अलर्ट


जोधपुर। भारी बारिश से पश्चिमी राजस्थान के कई इलाकों में बाढ़ के हालात हो गए हैं। जोधपुर संभाग के पाली, जालोर और सिरोही में पानी कहर बरपा रहा है।पथमेडा के पास का पांचला बांध टूट गया है और इसका पानी सांचौर में घुस गया है। इन इलाकों में लगातार पानी का स्तर बढने से प्रशासन ने लोगों से ऊंचाई वाले स्थानों पर जाने को कहा हैं। प्रदेश में एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू का संपर्क कट चुका हैं। यहां पिछले तीन दिनों में यहां 1 हजार मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हो चुकी है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए राज्य सरकार हरकत में आई है।

 

मौसम विभाग ने अगले 36 घंटों में भारी से भारी बारिश की चेतावनी दी हैं. ऐसे में इन जिलों में अगले 24 घंटे काफी महत्वपूर्ण होंगे।

राज्य के आपदा प्रबंधन सचिव रोहित कुमार ने मोर्चा संभालते हुए जालौर में अहमदाबाद से तीन एनडीआरएफ की टीमों को बुलाने के साथ जोधपुर में सेना को मदद के लिए तैयार रहने को कहा गया है। वायुसेना से जालोर जिले में बाढ से घिरे लोगों को बचाने के लिए हेलीकॉप्टर मंगाए गए हैं।


आपदा प्रबंधन रोहित कुमार ने बारिश को देखते हुए दूसरे राज्यों से एनडीआरएफ की टीमों को बुलाया है साथ ही रेस्क्यू ऑपरेशन के संसाधन भी मंगवाए गए हैं. बडौदा,अहमदाबाद और गाजियाबाद से एनडीआरएफ की टीम बुलाई गई हैं।

माउंट आबू का रास्ता बाधित

सिरोही में शनिवार से हो रही लगातार बारिश से सिरोही-माउण्‍ट आबू हाईवे पर चट्टाने खिसकने से रास्‍ता बाधित हो गया। जिससे आबू हिल स्‍टेशन पर मौसम का लुत्‍फ उठाने आए हजारों देशी विदेशी पर्यटक आबू में ही फंस गए। रेस्‍क्‍यू टीमे रास्‍ते से चट्टाने हटा कर पर्याटकों को बाहर निकाले का प्रयास कर रही हैं।

बांध लबालब

माउन्ट आबू में एक ओर जहां 23 सालों में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई हैं. यहां पिदले तीन दिनों में 1000 एमएम बारिश हुई हैं। वहीं 23 जिलों में सामान्य से ज्यादा बारिश हो चुकी हैं। प्रदेश के 100 से अधिक छोटे-बडे बांध लबालब होकर छलक चुके हैं।

रिकार्ड तोड़ बारिश

उदयपुर संभाग के बांसवाडा, डूंगरपुर, प्रतापगढ, राजसमंद और उदयपुर में पूरे जुलाई महीने में हुई बारिश की बराबरी पिछले चार दिनों में हो चुकी हैं। जोधपुर संभाग के जालोर और बाडमेर जिले में सामान्य से 150 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी हैं. अलवर, दौसा, धौलपुर, करौली जिले को छोडकर सभी संभागों में जोरदार बारिश दर्ज की जा रही है।

यह भी पढ़ें

दूध की वैन बरसाती पानी में बही, मां-बेटी की तलाश जारी

यातायात पर असर

बारिश ने प्रदेशभर में यातायात को भी प्रभावित किया है। रेल पटरियां पानी में डूबने और सड़के टूटने के कारण एक लाख से ज्यादा यात्री प्रभावित हुए हैं। आबूरोड-पालनपुर, जोधपुर-भीलड़ी, बाड़मेर-मुनाबाव खण्ड प्रभावित है। तो कई जगह चट्टाने खिसकने और ट्रेक में कटाव से मुश्किल आ रही हैं। हालांकि पालनपुर-आबूरोड खण्ड को दुरुस्त किया जा चुका है. गुजरात के रास्ते प्रदेश में आनी वाली बसों को भी रोका गया है।

Check Also

श्री नामदेव भवन में रमेगा गरबा, मातारानी की भक्ति में झूमेंगे समाजबन्धु

नामदेव न्यूज डॉट कॉम अजमेर। भीलवाड़ा की संजय कॉलोनी, विद्युत नगर स्थित श्री नामदेव भवन …